loading...

गुरुवार, 11 अप्रैल 2013

लिंग में भी हो सकता है फ्रैक्‍चर?


हाथ को कोहनी से उलटा खींचने से टूट सकता है, पैर मुड़ जाने से मोच आ सकती है, ऊंचा तकिया लगा लेने से गर्दन में लचक आ सकती है, ये सभी बातें आप जानते हैं इसलिये आप संभालकर काम करते हैं। लेकिन क्‍या आपने ऐसी कोई भी आशंका अपने लिंग के लिये व्‍यक्‍त की है? या फिर आपके मन में आयी है? शायद नहीं, क्‍योंकि हम सोचते हैं कि हमारा लिंग बहुत मजबूत और सुरक्षित है। लिंग की बात आती है तो ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग सिर्फ साफ-सफाई पर ध्‍यान देते हैं। नहाते वक्‍त लिंग को अच्‍छी तरह साफ करना बचपन से सिखाया जाता है, लेकि बाकी की बातें ध्‍यान में नहीं रहतीं। हम आपको लिंग के बारे में वो पांच बातें बताने जा रहे हैं, जिनसे हो सकता है आप अनजान हों। इन पांच बातों का ध्‍यान आप कभी रखें न रखें, लेकिन संभोग के वक्‍त जरूर रखें, नहीं तो आप आगे चलकर मुसीबत में पड़ सकते हैं। और हां शरीर के तमाम अंगों के बारे में हम बहुत कुछ जानते हैं, लेकिन लिंग के बारे में कई बातें हैं जो शायद कम ही लोग जानते हैं। हालांकि इसके पीछे कारण झिझक है। आम तौर पर लोग झिझक में ये सब बातें नहीं बताते।
लिंग से जुड़े कुछ अहम तथ्‍य
  • हो सकता है फ्रैक्‍चर

लिंग में कोई हड्डी नहीं होती। इसमें एक ऐसी मांसपेशियां होती हैं, जो आलिंगन के वक्‍त काफी सख्‍त हो जाती हैं और सामान्‍य रूप पर बहुत मुलायम रहती हैं। ऐसी मांसपेशियां शरीर के किसी भी अन्‍य अंग में नहीं होतीं। हम आपको बता दें कि संभोग के दौरान जोर-जबर्दस्‍ती करने से या बेतरतीब हस्‍त-मैथुन करने से लिंग में फ्रैक्‍चर हो सकता है। ऐसा होने पर आप नपुंसक हो सकते हैं।
  • ठंडा पानी लिंग का दुश्‍मन

नहाते वक्‍त या कभी भी जरूरत से ज्‍यादा ठंडा पानी सीधे लिंग पन मत डालें, इससे आपके लिंग के नीचे का भाग अचानक ठंडा पड़ सकता है और ऐसा होने पर वीर्य बनना बंद हो जाता है, इससे आप नपुंसकता के शिकार हो सकते हैं।
  • लिंग का खुद का दिमाग

यह बात शायद ही किसी को पता होगी। हमारे दिमाग का एक भाग एकदम अलग है, जो सीधे हमारे लिंग से जुड़ा हुआ है। लिंग हमारे नर्वस‍ सिस्‍टम के माध्‍यम से यहीं से कंट्रोल होता है। यानी जब व्‍यक्ति उत्‍तेजक होता है, तो दिमाग का वही भाग उसे नियंत्रित करता है।
  • लिंग में कड़ापन न आना यानी बीमार हैं

आप आम तौर पर लिंग में कड़ापन तब नहीं आता है, जब आपका संभोग या आलिंगन का मूड नहीं होता है, लेकिन अगर ऐसा रोज-रोज हो, तो यह गंभीर बात है। इसे इरेक्‍टाइल डाइसफंशन कहते हैं। ऐसा होना बीमारी के संकेत भी देता है। यदि आप हृदय रोगी हैं, हाईपरटेंशन के शिकार हैं, मधुमेह, आदि की शुरुआत है, तब भी आपके लिंग में कड़ापन आना बंद हो जाता है।
  • मुड़ा हुआ लिंग आम बात नहीं

यदि आपका लिंग केले की तरह मुड़ा हुआ है, तो इसे हलके में मत लें। यह बीमारी के संकेत हैं। इससे आपको संभोग करने में परेशानी होती है। इस बीमारी का नाम पेयरोनी है।

loading...